कंप्यूटर

कम्प्युटर हार्डवेयर भाग (3)

कम्प्युटर हार्डवेयर भाग (3)

computer hardware tips, free computer hardware
computer ports

दोस्तों जैसा कि आप सब ने पिछली पोस्ट में पढ़ा की मदरबोर्ड क्या होता है, और उसके बैक पैनल के अंदर क्या-क्या चीजें होती हैं, तो दोस्तों आज आइए हम जानते हैं कि मदरबोर्ड के ऊपर जो पोर्ट्स और कनेक्टर्स होते हैं वह कितने तरह के होते हैं और किस काम में लिए जाते हैं ,उन सब के बारे में हम एक एक करके जानते हैं तो सबसे पहले हम मदरबोर्ड की पावर सप्लाई के बारे में जानते हैं दोस्तों मदरबोर्ड में पावर सप्लाई का मुख्य स्रोत एसएमपीएस होता है जिससे 20 पिन का एक कनेक्टर मदरबोर्ड से जोड़ा जाता है जो मदरबोर्ड को पावर सप्लाई देता है|computer

आज के समय में यह कनेक्टर 24 पिन का आता है इसके अलावा मदरबोर्ड से 4 पिन का कनेक्टर और जोड़ा जाता है जो VRM सर्किट और मॉसफेट से होते हुए CPU को पावर सप्लाई जाता है, इसके अलावा मदरबोर्ड पर CPU सॉकेट होता है, RAM स्लॉट होता है जहां पर हम RAm को लगाते हैं |मदरबोर्ड कई तरह के आते हैं जिसमें अलग-अलग तरह की रैम काम में ली जाती है, जिसकी डिटेल में राम सेक्शन में आप सब को बताऊंगा | इसके अलावा मदर बोर्ड पर साटा और ID पोर्ट होते हैं, जिससे हम मदरबोर्ड से हार्ड डिस्क और डीवीडी राइटर इत्यादि को जोड़ते हैं| फ्रंट पैनल कनेक्टर होता है जिसके अंदर कंप्यूटर ऑन ऑफ स्विच ,रीस्टार्ट स्विच, पावर LED, HD LED जोड़ी जाती हैं, फ्रंट USB का कनैक्टर जहां पर कैबिनेट के फ्रंट साइड में जो USB कनेक्टर होते हैं वह मदरबोर्ड से जोड़े जाते हैं, ठीक इसी प्रकार फ्रंट ऑडियो कनेक्टर भी होता है जिससे हम कैबिनेट के आगे लगे हुए ऑडियो पोर्ट को जोड़ते हैं ,पीसीआई स्लॉट होता है जिसमें हम अपनी जरूरत के हिसाब से कोई भी चीज लगा सकते हैं ,जैसे एक्स्ट्रा लेन कार्ड लगाना हो टीवी ट्यूनर कार्ड लगाना हो, एक्स्ट्रा USB पोर्ट लगा सकते हैं|

मदरबोर्ड के ऊपर पीसीआई एक्सप्रेस स्लॉट होता है ,जिसमें हम ग्राफिक कार्ड को लगाते हैं, दोस्तों जो भी चीजें आप सब ने पढ़ा और देखा इसी तरह मदरबोर्ड के ऊपर इन सभी पार्ट्स को कंट्रोल करने के लिए या सॉकेट को मैनेज करने के लिए IC लगी रहती हैं जैसे इनपुट आउटपुट IC जो इनपुट आउटपुट को कंट्रोल करती है| ऑडियो जो ऑडियो को कंट्रोल करती है ,बायोस यह भी एक IC होती है जिसके अंदर प्रोग्रामींग की गई होती है और हम उसी प्रोग्राम के हिसाब से कंप्यूटर को मैनेज करते हैं, जिसे दूसरे शब्दो मे बायोस कहा जाता हैं |

तो दोस्तों यह रहा मदरबोर्ड का बेसिक परिचय और इन सब के बारे में हम एक-एक करके पूरी डिटेल से जानेंगे ,उसके बाद मदरबोर्ड में आने वाले हर एक समस्या और उनके समाधान के बारे में पड़ेंगे जैसे कि दोस्तों मैं आपको बताऊं कि मदरबोर्ड दिखने में काफी कठिन लगता है, ऐसा लगता है. कि हम उसे रिपेयर नहीं कर सकते लेकिन यदि हम मदरबोर्ड के हर एक सेक्शन को अलग करके फिर चेक करें ,और रिपेयर करें तो मदरबोर्ड की रिपेयरिंग करना काफी आसान हो जाती है|

यहां मैं आपको कुछ सेक्शनों के नाम बता रहा हूं, जिससे समझने में आसानी हो जाए सबसे पहले मदरबोर्ड में पावर सेक्शन अर्थात VRL सेक्शन, ऑडियो सेक्शन ,वीडियो सेक्शन, Ram सेक्शन, CPU सेक्शन ,इनपुट आउटपुट सेक्शन, इत्यादि दोस्तों यदि हम मदरबोर्ड को अलग-अलग सेक्शन में बांट देते हैं तो हमें समझने में भी आसानी रहती है, जिससे हमें मदरबोर्ड के हर एक प्रॉब्लम को समझने के लिए पूरे मदरबोर्ड को चेक करने की जरूरत नहीं पड़ती है ,मदरबोर्ड के जिस सेक्शन में खराबी आई है हम उसी को चेक करते हैं दूसरी चीजों को नहीं चेक करेंगे जिससे समय की भी बचत होती है, और मदरबोर्ड को रिपेयर करना काफी आसान हो जाता है |तो दोस्तों आज की पोस्ट में बस इतना ही मिलते हैं जल्दी ही अगली नई पोस्ट के साथ धन्यवाद|

यह भी पढे ……..

कम्प्युटर हार्डवेयर भाग 1

कम्प्युटर हार्डवेयर भाग 2 

रजिसटेन्स के कार्य और पहचान 

कैपेसिटर को कैसे चेक करे 

हमारे youtube चैनल से जुडने के लिए यहा क्लिक करे {chiplevels}

About the author

Admin

नमस्कार दोस्तों, आप सभी का chiplevels.com में स्वागत है। यहाँ पर आपको Computer / Laptop Hardware के chiplevel स्तर तक के नोट्स मिलेंगे। जो लोग Computer / Laptop Hardware का course नहीं कर पाते है, वे हमारे ब्लॉग से Basic जानकारी प्राप्त कर सकते है।
अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें |

1 Comment

Click here to post a comment