Computer Laptop Panel -पैनल टिप्स & ट्रिक्स लैपटॉप

How to Improve/Increase speed of Internet at Home?

slow-internet-day-670x335अधिकतर लोग इस बात से परेशान रहते हैं कि उनका इंटरनेट बहुत धीरे चलता है। अच्छे प्लान लेने के बावजूद दिक्कत कम नहीं होती। दरअसल, इंटरनेट की स्पीड सिर्फ उसके प्लान पर निर्भर नहीं रहती। स्लो स्पीड की कई वजहें हो सकती हैं। कई सारे ऐसे स्टेप हैं, जो स्पीड बढ़ाने में आपकी मदद सकते हैं। आज हम आपको ऐसे ही कुछ टिप्स बताने जा रहे है.

 

DNS बदलें
ब्रॉडबैंड देने वाली कंपनी कोई भी हो, सुरक्षित, भरोसेमंद और ज्यादा तेज स्पीड के लिए कंप्यूटर के लोकल एरिया कनेक्शन या वायरलेस नेटवर्क कनेक्शन में Preffered या Primary DNS सर्वर 8.8.8.8 और Alternate DNS सर्वर 8.8.4.4 होना चाहिए। यह सेवा गूगल द्वारा फ्री उपलब्ध करवाई जा रही है। आमतौर पर यह DNS, IPv4 वाले कम्प्यूटर्स के लिए है।

अगर आप विशेष तौर पर IPv6 के DNS बदलना चाहते हैं तो क्रमश: 2001:4860:4860::8888 और 2001:4860:4860::8844 का प्रयोग करें। वैसे तो यह काम खुद ही करना चाहिए, लेकिन ‘झंझट’ से मुक्ति पाने का सरल तरीका है कि http://inversekarma.in/technology/net/safely-switch-to-google-public-dns-for-a-faster-internet-experience पर जाएं। यहां Download Google DNS Helper पर क्लिक कर एक छोटा-सा सॉफ्टवेयर डाउनलोड करें।

उसे क्लिक करें। Switch to Google DNS बटन पर क्लिक करें। सारे बदलाव अपने आप हो जाएंगे।

DNS Cache हटाएं
जो साइट्स आपने अपने कंप्यूटर पर खोली हैं, दोबारा खोलने पर वे जल्दी खुल जाएं इसके लिए DNS cache को ऑपरेटिंग सिस्टम खुद ही इकट्ठा करता रहता है। समय-समय पर इसे हटाना बहुत जरूरी है। इसका तरीका यह है: अपने कीबोर्ड से विंडो की के साथ R दबाएं। सामने आए बॉक्स में टाइप करें CMD और ओके करें। जो कमांड प्रॉम्प्ट खुलेगा, इसमें टाइप करें ipconfig/flushdns और एंटर कर दें। वहीं Exit लिखकर एंटर दबाकर बाहर हो जाएं।

SNR वैल्यू जांचें
SNR मतलब Signal to Noise Ratio। इसकी वैल्यू ब्रॉडबैंड लाइन पर लागू होता है। डाउनलोड के वक्त एक अच्छी लाइन के लिए यह 13 dB से ज्यादा होना चाहिए। फोन लाइन पर इसका मापदंड, मॉडम के मॉडर्न इंटरफेस पर देखा जा सकता है। इसके लिए ब्राउजर के अड्रेस बार में 192.168.1.1 या 192.168.1.2 टाइप करें। एंटर दबाएं। यूजर के लिए admin और पासवर्ड के लिए admin का इस्तेमाल करें।

वैसे तो ब्रॉडबैंड 13 dB से कम पर भी चलता है, लेकिन इस कारण स्पीड कम होना, बार-बार कनेक्शन कटना, टाइम आउट जैसी समस्याएं आती हैं। 13 dB से कम वैल्यू पाए जाने पर फोन की तारें बदलना, तारों के जोड़ ठीक करना, टेलिफोन एक्सचेंज से टेलिफोन तक आने वाले वर्टिकल/कैबिनेट/पिलर/डीपी आदि में लाइन पेयर का बदलाव भी स्थिति में सुधार ला सकता है।

About the author

Admin

नमस्कार दोस्तों, आप सभी का chiplevels.com में स्वागत है। यहाँ पर आपको Computer / Laptop Hardware के chiplevel स्तर तक के नोट्स मिलेंगे। जो लोग Computer / Laptop Hardware का course नहीं कर पाते है, वे हमारे ब्लॉग से Basic जानकारी प्राप्त कर सकते है।
अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें |

Add Comment

Click here to post a comment