Networking

What is Network Topology and type | Network topology kya he or types kya he

What is Network Topology and type | Network topology kya he or types kya he | Star, Point to Point, Bus Topology, Ring Topology, Mesh Topology, TreeTopology and  Hybrid Topology all in hindi

Network Topology क्या है:- Communication Networks में Topology एक network arrangements का एक schematic description होता है। इसमें connecting lines और बहुत सारे Nodes का एक पूरा complete layout होता है। एक network मे जो भी connected Devices होते है, उन्हें Nodes कहते है। Generally Networks में नोड्स, Computers या अन्य उपकरण ही होते है। यहाँ नीचे जो picture दी गयी है, उसमें different types के network topologies के बारे मे विस्तार से बताया गया है।

Network Topology kya he:- Communication Networks me topology ek tarah ka network arrangement ka schematic description hota hai. ismen connecting lines and various nodes ka ek pura complete layout hota he. ek network me jo bhi connected devices hota hai, unhen nodes kahte hai. Generally networks me Nodes, computers ya peripherals devices hi hoti hai. niche jo picture di gayi hai, ismen different types ke network topologies ke bare me bataya gaya hai.

Type of Network Topology

इस प्रकार Topology मे कई तरह के अलग अलग Nodes जो आपस मे Connected होते है, उन्हें दिखाया जाता है, और इनकी आपस में connectivity यानि वे किस तरह से एक दूसरे से connected है, यह पता चलता है।

प्रमुख Network Topologies इस प्रकार है :-

is prakar Topology me kai trah ke alag alag nodes jo apas me conencted hote hai, unhen dikhaya jata hai, aur inki aapas me connectivity means ve kis tarah se ek dusre se connected hai, yaha pata chalta hai. Mainly Network topologies is given below.

1. Bus Topology
2. Star Topology
3. Ring Topology
4. Mesh Topology
5. Tree Topology
6. Hybrid Topology

रिंग टोपोलॉजी (Ring Topology) 

इस तरह की टोपोलोजी में ना तो कोई होस्ट होता है और ना ही कोई मुख्य या कंट्रोलिंग कम्प्यूटर | इसमें सभी कम्प्यूटर एक दूसरे से गोलाकार design में जुड़े हुए होते है। हर एक कंप्यूटर अपने अधीनस्थ या (Subordinate) कम्प्यूटर से जुड़ा हुआ होता है, लेकिन इनमें कोई भी कंप्यूटर मुख्य कंप्यूटर नहीं होता है। इस तरह के जो कंप्यूटर जुड़े हुए होते है उन्हें सर्कुलर (Circular) कहते है |

is tarah ki topology me na to koi host hota hai or na hi koi mukhya ya controlling computer. isme sabhi kampyutar ek dusre se golakar round design way me jude hue hote hai. har ek computer apne adhinasth ya subordinate computer se juda hua hota hai, lekin inme koi bhi computer main computer nahi hota hai. is tarah ke jo computer jude hue hote hai, inhen circular kahte hai.

रिंग नेटवर्क या (Ring Network) में Data Communication normal speed से होता है तथा एक computer से किसी another computer को डाटा (Data) receive करने पर उसके बीच के दूसरे computers को यह decide करना होता है कि वह data उनके लिए है या नही | यदि वह Data/डाटा इस computer के लिए नहीं है तो वह computer उस डाटा को किसी दूसरे computer को pass कर देता है।

Ring Network me Data Communication Normal Speed hi hota hai, and ek computer se kisi another computer ko data receive karne par uske bich ke dusre computer ya decide karna hota hai ki wah data unke lie hai ya nahi. yadi wah Data is computer ke lie nahi hai to wah computer us data ko kisi dusre computer ko pass kar deta hai.

लाभ (Advantages) –

  • Ring Network बेहतर Efficiency से work करता है। because इसमे कोई होस्ट या Controlling Computer नही होता है|
  • Ring Topology Star Topology से Reliable है। क्योंकि यह topology किसी एक computer पर depend नहीं होता है।
  • Ring Topology मे यदि कोई एक line या Computer work करना बंद कर देता है तो दूसरी line की तरफ से काम किया जा सकता है।
  • Ring Topology better efficency se work karta ha. because issme koi Host ya Comtrolling Ciomputer nahi hota hai.
  • Ring Topology, Star Topology se Reliable hai. because yah topology kisi bhi ek computer par depended nahi hota hai.
  • Ring Topology me yadi koi ek line ya computer work karna band kar deta hai to dusri line ki side se kam kiya ja sakta hai.

हानि (Disadvantages) 

  • Ring Topology में speed Network के सभी Computers पर depend करती है। जब computers कम attach होंगे तो Work fast speed से होगा। यदि computers की संख्या ज्यादा है तो speed Slow होगी।
  • Ring Topology, Star Topology के comparison में कम Famous है। because ring topology में work करने के लिए Typical ओर hard software की Need होती है।
  • Ring Topology me speed networking ke sabhi computer par depend karti hai. jab computers kam attach honge to work fast speed se hoga. yadi computer kis ankhya jyada hai to speed bhi slow hogi.
  • Ring Topology, Star Topology ke comparison me kam famous hai, because Ring Topology me working karnne kel ie Typical or hard software ki need hoti he.

बस टोपोलॉजी (Bus Topology) 

बस टोपोलॉजी (Bus Topology) में सभी computers एक ही wire या तार (Cable) से जुड़े हुए होते है। और ये सभी कम्प्युटर आपस में Parallel/ समानान्तर एक ही series या क्रम में जुड़े हुए होते है। जहां से सभी Computers आपस मे जुड़े हुए होते है, उनकी starting point पर Device connected होता है, जिसे Terminator या टर्मिनेटर कहते है। इसके माध्यम से संकेतों यानि signals को control किया जाता है।

Bus Topology me sabhi computers ek hi wire ya cable se connected hote hai, and ye sabhi computers apas me parallel ek hi sseries ya kram me connected hote hai. jahan se sabhi computers apas me connected hote hai, wahan par jo starting point par ek device connected hota hai, jise Terminator kahte hai. iske madhyam se signals / sanketon ko control kiya jata hai.

bus topology kya he

लाभ (Advantages) –

  • बस टोपोलॉजी Bus Topology को install/ स्थापित / Setup करना बहुत आसान होता है।
  • बस टोपोलॉजी Bus Topology  में Star और Tree Topology के comparison में Cable का खर्च बहुत कम आता है।
  • Bus Topology ko Install karna bahut hi easy hota hai.Bus topology me star aur tree topology ke comparision me cable ka kharcha bahut kam lagta hai.

हानि (Disadvantages) 

  • Bus Topology / बस टोपोलोजी में किसी भी एक computer के खराब हो जाने पर networking की कोननेक्टिवितय disconnect हो जाती है।
  • Bus Topology / बस टोपोलोजी का एक बार Setup करने के बाद किसी भी नए computer को connect करना difficult होता है।

स्टार टोपोलॉजी (Star Topology) 

स्टार टोपोलॉजी/Star Topology वाले नेटवर्क में हमेशा एक Host Computer होता है जो local network से जुड़े हुए सभी computers से connected होता है। अगर हम सभी local computers को एक दूसरे से जोड़ने की कोशिश करेंगे तो वे कनैक्ट नहीं होंगे, इसके लिए एक Host Computer बनाया जाता है, जो सभी local computers को Control करता है।

Star Topology wale network me hamesha ek host computer hota hai jo local network se jude hue sabhi computers se connected hota hai. agar ham sabhi local computers ko ek dusre se jodne ki koshish karenge to ve connect nahi honge, iske lie ek host computer banaya jata hai, jo sabhi local computer ko control karta hai.

लाभ (Advantages) –

  • स्टार टोपोलॉजी/Star Topology में एक computer से other Computers से जोड़ने के लिए एक host Computer की जरूर पड़ती है। और इन सभी computers को जोड़ने के लिए cable की Costing भी कम पड़ती है।
  • स्टार टोपोलॉजी/Star Topology में एक बार जितने भी Computers का Setup किया हुआ होता है, उसके बाद यदि कभी computers को और add करने की जरूरत भी पड़ जाए तो इससे सभी computers में data transfer करने की Speed मे कोई फर्क नहीं पड़ता है। इसमें फर्क सिर्फ यही पड़ता है की इसमें  कम्प्युटर जोड़ने पर computer की speed कम हो जाती है, क्योंकि सभी Computers के बीच मे केवल एक ही Host होता है।
  • स्टार टोपोलॉजी/Star Topology में यदि कोई भी एक local Computer बंद या खराब हो जाए तो इससे networking मे कोई फर्क नहीं पड़ता है, बाकी के सभी computers अपनी normal speed से Work करेंगे।
  • Star Topology me ek computer se other comnputers ko connect karne ke lie ek host computer ki requirement hoti hai. or in sabhi computers ko connect karne ke lie cable ki costing bhi kam padti hai.
  • Star Topology me ek bar jitne bhi computers ka setup kiya hua hota hai, uske baad yadi kabhi computers ko add karne ki need hoti hai to isse sabhi computer me data transfer ki speed par koi effect nahi padta hai. isme effect sirf yahi padta hai ki isme  computer ko jodne par computer ki speed kam ho jati hai, kyonki sabhi computers ke bich me keval ek hi host hota he.
  • Star Topology me yadi koi bhi ek local computer band ya khaarab ho jaye to isse networking me koi effect nahi padta hai, baki ke sabhi computer apni normal speed me work karenge.

हानि (Disadvantages) 

  • Star Topology में पूरा network Host Computer द्वारा control की जाती है, इसलिए यदि Host Computer ही खराब हो जाए तो पूरा का पूरा netowrk ही fail हो जाता है।
  • Star Topology me pura Network Host Computer dvara control kiya jata hai, os yadi Host Computer hi fail ho jaye to pura ka pura network hi fail ho jata hai.

मेश टोपोलॉजी (Mesh Topology) 

मेश टोपोलॉजी / Mesh Topology को मेश नेटवर्क (Mesh Network) या मेश के नाम से भी जाना जाता है। Mesh Topology में सभी devices और Network Nodes के बीच में कई Interconnections होते है। इसका अर्थ यह है भी mesh Topology में  एक network से जुड़े हुए computers  एक दूसरे से Nodes के माध्यम से जुड़े हुए होते है ।

Mesh Topology ko Mesh Network ya Mesh ke nam se bhi jana jata hai. Mesh Topology me sabhi Devices aur network Nodes ke bich me kai Interconnections hote hai. jiska meaning ya hai ki mesh Topology me ek Network se connected sabhi computers ek dusre se Nodes ke madhyam se connected hote hai.

मेश टोपोलॉजी में एक network से जुड़े हुए सभी computers आपस में कहीं ना कहीं nodes के माध्यम से connected होते है। जिसके कारण ये Data/ Information Transfer easily कर सकते है।  और सबसे खास बात यह है की इनमें किसी भी Host Computer की जरूरत नहीं पड़ती है।

Mesh Topology me ek network se connected sabhi computers apas me kahi na kahi nodes ke threw aapas me connected hota hai. jiske karan ye data or information ko easily transfer kar sakte hai. or most important baat yah hai ki mesh topology me kisi Host computer ki need nahi hoti hai.

 ट्री टोपोलॉजी (Tree Topology) 

ट्री टोपोलॉजी Tree Topology, Star Topology And Bus Topology का combination होता है। Tree Topology में Star Topology की तरह ही एक Host Computer विद्यमान होता है, और Bus Topology के जैसे all Computers आपस मे एक दूसरे से एक ही Cable से Connected रहते है। Tree Topology का अगर map देखा जाए तो एक Tree यानि के पीड़ जैसे ही देखता है, जिसमें सबसे पहले एक Host Computer होता है, फिर इसके बाद एक के बाद एक सभी computers आपस में Connected रहते है।

Tree Topology star topology and Bus topology ka combination hota hai. Tree topology me Star topology ki tarah hi ek host computer hota hai. or bus topology ke jaise hi all computers apas me ek dusre se bable se connected hote hai. Tree topology ka agar ham Map dekhe to yah ek tree ke jaise dikhayi deta hai, jisme sabse pahle ek host Computer hota hai, or fir iske baad ek ke baad ek karke sabhi computer apas me connected rahte hai.

लाभ (Advantages) –

  • Tree Topology में हर एक Segment को बनाने की लिए प्वाइन्ट तार जोड़ा जाता है।
  • कई हार्डवेयर तथा साफ्टवेयर विक्रेताओ के द्वारा सपोर्ट किया जाता है ।
  • Tree Topology me har ek segment ko banane ke lie point tar bichaya jata hai.
  • kai hardware or software sallers dvara full support kiya jata hai.

हानि (Disadvantages) 

  • Tree Topology में हर एक खण्ड (Segment) cables का खर्च बहुत ज्यादा आता है, क्योंकि जितना लंबा सेगमेंट होगा उतनी ही लंबाई के केबल लगानी पड़ेगी।
  • Tree Topology मे यदि Main केबल जिसे बैकबोन Cable या line कहा जाता है, वो टूट या कट जाए तो पूरा का पूरा Segment Stop हो जाता है।
  • बाकी सभी Typologies के मुक़ाबले Tree Topology मे wire या Cable बिछाना और फिर configure करना डिफिकल्ट होता है।
  • Tree Topology me har ek segment me cables ka cost bahut jyada aata hai, because jitna long segment hoga, utna hi jyada wire ya cable lagani padegi.
  • Tree Topology me yadi main Cable jise Backbone cable ya line kaha jata hai, agar wo cut ya broke ho jaye to pura ka pura segment stop ho jata hai.
  • baki other Typologies ke mukable Tree Topology me Wire ya Cable Bichana or fir configure karna bahut difficult hota hai.

About the author

Admin

नमस्कार दोस्तों, आप सभी का chiplevels.com में स्वागत है। यहाँ पर आपको Computer / Laptop Hardware के chiplevel स्तर तक के नोट्स मिलेंगे। जो लोग Computer / Laptop Hardware का course नहीं कर पाते है, वे हमारे ब्लॉग से Basic जानकारी प्राप्त कर सकते है।
अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें |

Add Comment

Click here to post a comment