Computer टिप्स & ट्रिक्स

basic computer | कंप्यूटर क्या हैं |

कंप्यूटर क्या है इसकी पूरी जानकारी हिंदी में पढ़ेंगेcomputer-h


आज की इस टेक्निकल दुनिया में शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति हो जिसने कंप्यूटर के बारे में नहीं सुना हो और कंप्यूटर से अब तक अंजान हो क्योंकि आज बहुत से  कार्य कंप्यूटर कि मदद से ही होते हैं और लगभग हर एक  लोगों  के पास कंप्यूटर या लैपटॉप मिल जाता है |  तो आइए इस पोस्ट से हम भी यह जाने का प्रयास करते हैं  की कंप्यूटर या लैपटॉप क्या होता है और यह कैसे कार्य करता है तथा कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज  क्या होती है तथा बेसिक कंप्यूटर कैसे सीखें तथा और भी बहुत कुछ इस पोस्ट में हम आपको बताने का प्रयास कर रहे हैं|

 

कंप्यूटर कोई सामान नहीं होता है यह कई तरह के हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर से मिलकर बना होता है जैसे:- मदर बोर्ड cpu. Ram , हार्ड डिस्क, कीबोर्ड, माउस, मॉनीटर , कैबिनेट इत्यादि,  इन सभी हार्डवेयर पार्ट्स के बारे में कंप्यूटर सेक्शन में विस्तार से जानकारी दी गई है की  कंप्यूटर के अंदर  इन  अलग अलग पार्ट्स की क्या भूमिका होती है और यह कैसे कार्य करते हैं तथा इनमे कोई खराबी आ जाने पर उसे कैसे दूर कर सकते हैं यह सभी जानकारी कंप्यूटर हार्डवेयर सेक्शन में दी गई है , जहां से आप इनके बारे में विस्तार से पढ़ सकते हैं और समझ सकते हैं |

आज के बदलते हुए जमाने को कंप्यूटर का जमाना कहा जाता है कंप्यूटर आज के जमाने का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है इसलिए हर किसी को कंप्यूटर की जानकारी होना जरुरी हो गया है, अगर आपको कंप्यूटर की जानकारी नहीं है तो भी आपको कंप्यूटर की कुछ बेसिक जानकारी होनी ही चाहिए| तो आइए आगे इस पोस्ट में इसके बारे में पढ़ते हैं|

कंप्यूटर क्या है ?

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है और आज के समय में नया कंप्यूटर इलेक्ट्रॉनिक होने के साथ-साथ डिजिटल भी  हो गया है,  जो इनपुट के माध्यम से आंकड़ों को रिसीव करता है और उन्हें प्रोसेस करता है और सूचनाओं को  एक फिक्स जगह पर इकट्ठा करता है, साधारण शब्दों में कहे तो कंप्यूटर एक मशीन ही होता है |

जिससे हमारे जरूरत के कार्यों को करने के लिए बनाया गया है कंप्यूटर को  एक शब्द  में परिभाषित नहीं किया जा सकता है| इसलिए मैं आपको इसके बारे में विस्तार से बता  रहा हूं|

कंप्यूटर को इलेक्ट्रॉनिक मशीन क्यों कहते हैं?

एक तरह से देखा जाए तो कंप्यूटर खुद कुछ भी नहीं करता है कंप्यूटर जो कुछ भी कार्य करता है वह हमारे दिए हुए निर्देशों के अनुसार करता है  हम अपनी आवश्यक जो जो सॉफ्टवेयर चाहिए होते हैं उनको इंस्टॉल करने के बाद हम प्रयोग कर सकते हैं जैसे:- ऑपरेटिंग सिस्टम ( windows xp, windows 7, windows 8  और नवीनतम विंडोज 10) माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस कोई भी मीडिया प्लेयर adobe reader या फिर ज़रूरत के हिसाब से कोई भी सॉफ्टवेयर कर सकते हैं एक बार इंस्टॉल करने के बाद हम कभी भी यूज कर सकते हैं |

कंप्यूटर क्या होता है कंप्यूटर की पूरी जानकारी हिंदी में दिया जा रहा है

कंप्यूटर के मुख्यता दो भाग होते हैं, हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर अगर  हम आसान शब्दों में समझने की कोशिश करें तो इंसान के शरीर को हार्डवेयर से तुलना कर सकते हैं तथा आत्मा को सॉफ्टवेयर से कहने का आशय यह है की आत्मा के बिना शरीर किसी काम की नहीं है उसी तरह सॉफ्टवेयर के बिना हार्डवेयर या हार्डवेयर के बिना सॉफ्टवेयर किसी काम का नहीं है इस तरह हम समझ सकते हैं कि  दोनों एक दूसरे के बिना अधूरे हैं|

1:    हार्डवेयर

हार्डवेअर कंप्यूटर के उन भागों को कहा जाता है  जिन्हें हम अपने हाथों से छू सकते हैं और आंखों से देख सकते हैं  और हार्डवेयर के खराब होने पर  टूल किट की सहायता से रिपेयर कर सकते हैं  |सॉफ्टवेयर हार्डवेयर  से बिल्कुल अलग होते हैं जिनका कार्य कंप्यूटर को आर्डर देना होता है और उनके आर्डर पर कंप्यूटर का हार्डवेयर कार्य करता है|

2: सॉफ्टवेयर

सॉफ्टवेयर कंप्यूटर का वह भाग होता है जिन्हें अपनी आंखों से देख  देख सकते हैं सॉफ्टवेयर को प्रयोग में ले सकते हैं तथा अपना कार्य भी कर सकते हैं किंतु उन्हें छू नहीं सकते और हार्डवेयर के जैसे टूल किट की सहायता से  रिपेयर भी नहीं कर सकते सॉफ्टवेयर ठीक तरह का प्रोग्राम होता है जो किसी मनुष्य के दिमाग की उपज हो सकती है जिससे उस हार्डवेयर का हम अच्छी तरह से उपयोग ले सकें अर्थात हार्डवेयर से अच्छा आउटपुट ले सकें|

हार्डवेयर तथा सॉफ्टवेयर में अंतर

1:  हार्डवेयर को  कंप्यूटर बनाने वाली कंपनियों में निर्माण होता है जैसे इंटेल,asus  गीगाबाइट इत्यादि बहुत सारी कंपनियां हैं जो हार्डवेयर का निर्माण करती हैं इसके ठीक उलट सॉफ्टवेयर का निर्माण कंप्यूटर के जानकार क्या कंप्यूटर के  प्रोग्रामर द्वारा बनाई जाती हैकहने का तात्पर्य यह है कि हार्डवेर को हाथों से बनाया जाता है तथा सॉफ्टवेयर इंसान अपनी सोच और   समझ के द्वारा बनाता है |

1: हार्डवेर को हम अपने हाथों से छू सकते हैं किंतु सॉफ्टवेयर को नहीं छू सकते हैं |

3: हार्डवेर को बनाने के लिए कुछ पार्ट्स ऑफ कंपोनेंट्स की जरूरत पड़ती है किंतु सॉफ्टवेयर को बनाने के लिए किसी पार्ट की जरूरत नहीं पड़ती है |

4:किसी कंप्यूटर के हार्डवेयर की खराब होने पर हम उसे कंप्यूटर से अलग कर सही करवा कर वापस लाकर लगा सकते हैं किंतु सॉफ्टवेयर के खराब हो जाने पर उसे सही करवाने के लिए हमें किसी कंप्यूटर की दुकान पर ले जाना पड़ता है|

5: हार्डवेयर का काम निर्देशों का पालन करना होता है तथा  सॉफ्टवेयर  का कार्य हार्डवेयर को निर्देश देना होता है|

6:  कंप्यूटर के हार्डवेयर पार्ट्स का निर्माण करने के लिए मशीनों तथा उन मशीनों को चलाने के लिए सामान की जरूरत पड़ती है किंतु सॉफ्टवेयर को कोई भी कंप्यूटर को अच्छे से जानने वाला इंसान बना सकता है|

कंप्यूटर बेसिक यूनिट्स

बेसिक यूनिट्स अर्थात कंप्यूटर की उन मूल इकाइयों से हैं जिनसे कंप्यूटर गणना करने का कार्य शुरू करता है तो आइए देखते हैं कि यह मूल इकाइयां कौन-कौन सी हैं|

1: Bit-

Bit  अर्थात बायनरी डिजिट बिट कंप्यूटर की एक सबसे छोटी इकाई होती है यह मेमोरी में बायनरी अंक 0 और 1  को दिखाती है|

2: Byte-

यह कंप्यूटर मेमोरी की एक मानक इकाई है कंप्यूटर मेमोरी में कीबोर्ड का हर एक बटन इसमें संचित होता है इसे हम ASCII  कोड भी कहते हैं हर एक ASCII   कोड 8 Byte  क्या होता है इसी तरह हर एक Bit 8 Byte  से मिलकर बनी हुई होती है |

कंप्यूटर कार्य कैसे करता है ?

1:  कंप्यूटर के अंदर इनपुट के साधन जैसे कीबोर्ड माउस स्केनर इत्यादि  से हम अपने निर्देशित डाटा प्रोसेसर को  भेजते हैं

2:  जैसे ही प्रोसेसर हमारे निर्देशों का पालन  करता है तो उसे कंप्यूटर  में लगी हुई स्क्रीन पर भेज देता है जिसे हम आसानी से देख सकते हैं |

3: प्रोसेसर हमारे द्वारा दिए हुए निर्देशों का पालन करते हुए अपना कार्य करता है |

4:  भविष्य के लिए सूचनाओं और मौजूद डाटा को हम कंप्यूटर की हार्ड डिस्क के अंदर सेव कर सकते हैं |

कहने का मतलब यह है की कंप्यूटर को हम जो भी ऑर्डर देते हैं वह उसी पर कार्य करता है यदि हम कंप्यूटर को बंद कर देते हैं तो वह सब कुछ भूल जाता है   और वापस स्टार्ट करने पर कार्य करना शुरू कर देता है इसलिए हम कंप्यूटर पर जो भी कार्य करते हैं उसे कंप्यूटर की हार्ड डिस्क में सेव कर सकते हैं और कंप्यूटर की दोबारा ऑन होने पर उस डेटा का वापस प्रयोग कर सकते हैं |

 

कंप्यूटर हार्डवेयर के बारे में विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे  {सम्पूर्ण कंप्यूटर हार्डवेयर } कंप्यूटर के बारे में और उनके हरेक पार्ट्स के बारे में विस्तार से समझ सकते हैं

 

दोस्तों जहां तक मैं समझता हूं कि वह आपको पसंद आएगी और वैसे भी आज के समय में हर किसी को कंप्यूटर की नॉर्मल जानकारी तो होनी ही चाहिए क्योंकि आने वाले समय में सभी कार्य मशीनों से होने लगेंगे और उन मशीनों को कंट्रोल करने के लिए कंप्यूटर की मदद लेनी पड़ेगी इसलिए जहां तक मैं समझता हूं कि हर एक व्यक्ति को पूर्ण रुप से नहीं तो थोड़ी बहुत जानकारी तो होनी ही चाहिए |

 

 

About the author

Admin

नमस्कार दोस्तों, आप सभी का chiplevels.com में स्वागत है। यहाँ पर आपको Computer / Laptop Hardware के chiplevel स्तर तक के नोट्स मिलेंगे। जो लोग Computer / Laptop Hardware का course नहीं कर पाते है, वे हमारे ब्लॉग से Basic जानकारी प्राप्त कर सकते है।
अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें |

Add Comment

Click here to post a comment